close this ads

टॉप मंदिर

  • श्री राम मंदिर


    श्री राम मंदिर

    A grand Ram temple was opened at Somnath under Shree Somnath Trust of Gujarat on Vijaya Dashmi with pran pratishtha mahotsav called as श्री राम मंदिर (Shri Ram Mandir).

  • गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा

    गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा (Punjabi: ਗੁਰਦੁਆਰਾ ਸ੍ਰੀ ਗੁਰੂ ਸਿੰਘ ਸਭਾ, English: Gurudwara Sri Guru Singh Sabha) founded by the group of people from Noida. Gurudwara Sahib structure design inspired by Hemkund Sahib Uttarakhand and also look like a lotus outer wings.

  • गुरुद्वारा सीसगंज साहिब जी

    गुरुद्वारा सीसगंज साहिब जी (Punjabi: ਗੁਰਦੁਆਰਾ ਸੀਸ ਗੰਜ ਸਾਹਿਬ ਜੀ, English: Gurudwara Sisganj Sahib Ji) dedicated to Ninth Sikh Guru, Guru Tegh Bahadur, one of the nine historical gurdwaras in Delhi. First established in 1783 by Baghel Singh to commemorate the martyrdom site the ninth Sikh Guru, Guru Tegh Bahadur.

  • श्री योगमाया मंदिर

    Siddhapeeth, Shaktipeeth, Gyanpeeth and Jyotipeeth श्री योगमाया मंदिर (Shri Yogmaya Mandir) is taken care by 16th generation of same family of vatsh gotra. Temple is dedicated to Shri Yogmaya sister of Lord Krishna, Near by Qutub Minar.

  • तीर्थराज मुचुकुन्द

    The nephew of all Teerth, तीर्थराज मुचुकुन्द (Tirthraj Muchkund) series of 108 temples surrounded around a large holy pond. Due to name of 24th Suryavanshi Raja Muchukand, nineteen generations before Lord Shri Ram.

  • भगवान वाल्मीकि मंदिर

    भगवान वाल्मीकि मंदिर (Bhagwan Valmiki Mandir) dedicated to Maharishi Valmiki. Prime Minister Narendra Modi gave a clarion call for a ‘स्वच्छ भारत - Swach Bharat (Clean India)’ on the birth anniversary of the Mahatma Gandhi on 2 October 2014.

आरती: श्री हनुमान जी

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं, श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे॥

आरती: श्री रामचन्द्र जी।

आरती कीजै रामचन्द्र जी की। हरि-हरि दुष्टदलन सीतापति जी की॥

मंत्र: श्री विष्णुसहस्रनाम पाठ

भगवान श्री विष्णु के 1000 नाम! विष्णुसहस्रनाम का पाठ करने वाले व्यक्ति को यश, सुख, ऐश्वर्य, संपन्नता...

श्रीविष्णुपञ्जरस्तोत्रम्॥

प्रवक्ष्याम्यधुना ह्येतद्वैष्णवं पञ्जरं शुभम्। नमोनमस्ते गोविन्द चक्रं गृह्य सुदर्शनम्॥

मूंग दाल के मगौड़े  बनाने की विधि
मूंग दाल के मगौड़े बनाने की विधि

...डार्क ब्राउन हो जाने के बाद उन्हें एक प्लेट में निकाल लेते हैं इसी प्रकार मिश्रण से सारे मगौड़े बना लेते हैं।

तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि
तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि

...जब मिश्रण हल्का गरम हो तभी लड्डू बना लें ठंडा होने पर लड्डू नहीं बन पाएँगे।

साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि
साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि

साबूदाना को एक बर्तन में साफ पानी में डाल कर निकाल लेते है धुले हुए साबूदानों को आधा कप पानी डाल कर ५ से६ घंटे के लिए भिगोने रख देते हैं...

नाचे नन्दलाल, नचावे हरि की मईआ!

नाचे नन्दलाल, नचावे हरि की मईआ ॥ नचावे हरि की मईआ...

जेल में प्रकटे कृष्ण कन्हैया..

जेल में प्रकटे कृष्ण कन्हैया, सबको बहुत बधाई है, बहुत बधाई है...

कृष्ण जिनका नाम है...!

कृष्ण जिनका नाम है, गोकुल जिनका धाम है, ऐसे श्री भगवान को...

राम को देख कर के जनक नंदिनी

राम को देख कर के जनक नंदिनी, बाग में वो खड़ी की खड़ी रह गयी। यज्ञ रक्षा में जा कर के मुनिवर के संग...

भारत के चार धाम
भारत के चार धाम

आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा परिभाषित चार वैष्णव तीर्थ हैं। बद्रीनाथ धाम, रामेश्वरम धाम, जगन्नाथ धाम, द्वारका धाम...

दिल्ली के प्रसिद्ध बाबा श्री भैरव नाथ मंदिर!
दिल्ली के प्रसिद्ध बाबा श्री भैरव नाथ मंदिर!

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के लगभग सभी प्रमुख एवं प्रसिद्ध श्री बाबा भैरब नाथ मंदिर। 8 जनवरी 2019 को सारी दिल्ली भैरव जयंती माना रही है।

 जानें दिल्ली के कालीबाड़ी मंदिरों के बारे मे!
जानें दिल्ली के कालीबाड़ी मंदिरों के बारे मे!

नीचे दिए गये हैं, दिल्ली और आस-पास के राज्यों के सबसे ज्यादा प्रसिद्ध दुर्गा पूजा पंडाल मे आपको जरूर जाना चाहिए...

श्री राम स्तुति: श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन!

श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं। नव कंज लोचन कंज मुख...

जय राम रमा रमनं समनं।

जय राम राम रमनं समनं। भव ताप भयाकुल पाहि जनम॥ अवधेस सुरेस रमेस बिभो।...

प्रार्थना: दया कर दान विद्या का!

देश के एक हजार से ज्यादा केंद्रीय विद्यालयों, जवाहर नवोदय विद्यालय में बच्चों द्वारा सुबह...

हे जग स्वामी, अंतर्यामी, तेरे सन्मुख आता हूँ!

हे जग स्वामी, अंतर्यामी, तेरे सन्मुख आता हूँ। सन्मुख आता, मैं शरमाता...

अथ श्री बृहस्पतिवार व्रत कथा | बृहस्पतिदेव की कथा

भारतवर्ष में एक राजा राज्य करता था वह बड़ा प्रतापी और दानी था। वह नित्य गरीबों और ब्राह्‌मणों...

श्री बृहस्पतिवार व्रत कथा 2

बोलो बृहस्पतिदेव की जय। भगवान विष्णु की जय॥ बोलो बृहस्पति देव की जय॥

भगवान राम के राजतिलक में निमंत्रण से छूटे भगवान चित्रगुप्त!

जब भगवान् राम दशानन रावण को मार कर अयोध्या लौट रहे थे, तब उनके खडाऊं को राजसिंहासन पर रख कर राज्य चला रहे राजा भरत...

माता श्री तुलसी चालीसा
माता श्री तुलसी चालीसा

जय जय तुलसी भगवती सत्यवती सुखदानी। नमो नमो हरि प्रेयसी श्री वृन्दा गुन खानी॥

चालीसा: श्री हनुमान जी
चालीसा: श्री हनुमान जी

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि॥

श्री सूर्य देव चालीसा
श्री सूर्य देव चालीसा

जय सविता जय जयति दिवाकर!, सहस्त्रांशु! सप्ताश्व तिमिरहर॥ भानु! पतंग! मरीची! भास्कर!...

प्रेरक कहानी: अपने वास्तविक कार्यों पर गंभीर बने!

बंगाल में नदिया के राजा कृष्णचंद्र के दरबार के नवरत्नों में से थे गोपाल भांड। वह अपनी सूझ-बूझ और चतुराई से राजा सहित...

प्रेरक कहानी: राजधर्म और तपस्या का फर्क

सम्राट भरत, जिनके बारे में कहा जाता है कि उनके नाम पर हमारे देश का नाम भारत पड़ा, वे बड़े प्रतापी और सुयोग्य शासक थे। राजा भरत शासन करते हुए भी कठोर तपस्या किया करते थे...

श्री कृष्ण की सभी दुष्टों को एक साथ मारने की तरकीब..

कंस की मृत्यु के पश्चात उसका ससुर जरासन्ध बहुत ही क्रोधित था, ओर उसने कृष्ण व बलराम को मारने हेतु मथुरा पर 17 बार आक्रमण किया.

अष्टोत्तर भैरव नामावलि

अष्टोत्तर शतनाम स्तोत्रम्: श्री भैरव जी के कल्याणकारी 108 नाम/नामावलि - ॐ भैरवाय नमः, ॐ भूतनाथाय नमः...

माता सीता अष्टोत्तर-शतनाम-नामावली

ॐ सीतायै नमः। ॐ जानक्यै नमः। ॐ देव्यै नमः। ॐ वैदेह्यै नमः। ॐ राघवप्रियायै नमः। ॐ रमायै नमः...

नामावलि: श्री गणेश अष्टोत्तर नामावलि

श्री गणेश के 108 नाम और उनसे जुड़े मंत्र। गजानन- ॐ गजाननाय नमः। गणाध्यक्ष- ॐ गणाध्यक्षाय नमः...

श्री शिवमङ्गलाष्टकम्॥

भवाय चन्द्रचूडाय निर्गुणाय गुणात्मने। कालकालाय रुद्राय नीलग्रीवाय मङ्गलम्॥

^
top