टॉप मंदिर

  • दूधिया भैरव नाथ मंदिर


    दूधिया भैरव नाथ मंदिर

    श्री दूधिया बाबा भैरव नाथ जी पांडवों कालीन मंदिर, बाबा भैरव नाथ जी को समर्पित है, जिन्हें भैरों तथा भैरव नाम से भी जाना जाता है।

  • श्री किलकारी भैरव नाथ मंदिर

    श्री किलकारी बाबा भैरव नाथ जी पांडवों कालीन मंदिर, बाबा भैरव नाथ जी को समर्पित हैं, जोकि भगवान शिव का एक उग्र अवतार माने जाते हैं।

  • श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर

    श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर नाशिक पंचवटी के तपोवन का एक महत्वपूर्ण मंदिर है। कुम्भ मेले के दौरान प्रशासन द्वारा भी सर्व प्रथम संत, महंतो और महामंडलेश्वरों के रुकने की व्यवस्था इसी मंदिर में की जाती है।

  • पंचवटी

    रामायण में, भगवान राम के 14 वर्षों के वनवास काल खंड के प्रसंग में पंचवटी का नाम अत्यधिक प्रचलित है। मान्यताओं के अनुसार माता सीता, भगवान राम एवं लक्ष्मण के साथ इस स्थान पर बहुत समय तक रुकीं थीं।

  • तपोवन नासिक

    नासिक शहर में तपोवन, कपिला एवं गोदावरी नदी के संगम स्थल के आस-पास का वह क्षेत्र है जहाँ भगवान राम, माता सीता और भाई लक्ष्मण ने चौदह वर्ष के वनवास का अधिकतम समय यहाँ विचरण किया था।

  • श्री त्रंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग

    श्री त्रंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग तीन छोटे-छोटे लिंग ब्रह्मा, विष्णु और शिव प्रतीक स्वरूप, त्रि-नेत्रों वाले भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है।

  • श्री कालिका मंदिर

    प्राचीन मराठा काल से, नासिक की ग्राम देवी के रूप में माँ काली का यह बाल रूप श्री कालिका देवी मंदिर में विराजमान है। उस समय यह मंदिर सर्व प्रथम जंगल में स्थापित किया गया था।

आरती: श्री शनिदेव - जय जय श्री शनिदेव

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी। सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी॥जय जय..॥

आरती: श्री गंगा मैया जी

ॐ जय गंगे माता श्री जय गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता मनवांछित फल पाता॥ हर हर गंगे, जय माँ गंगे...

ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार: भजन

ना मन हूँ, ना बुद्धि, ना चित अहंकार, ना जिव्या नयन नासिका, करण द्वार..

शिव पूजा में मन लीन रहे मेरा: भजन

शिव पूजा में मन लीन रहे मेरा मस्तक हो और द्वार तेरा, मिट जाए जन्मों की तृष्णा मिले भोले शंकर प्यार तेरा।

तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे बलिहार: भजन

तेरी मंद-मंद मुस्कनिया पे, बलिहार संवारे जू । तेरी मंद-मंद मुस्कनिया पे..

सबसे ऊंची प्रेम सगाई: भजन

सबसे ऊंची प्रेम सगाई । दुर्योधन के मेवा त्याग्यो, साग विदुर घर खाई..

दिल्ली के प्रसिद्ध बाबा श्री भैरव नाथ मंदिर!
दिल्ली के प्रसिद्ध बाबा श्री भैरव नाथ मंदिर!

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के लगभग सभी प्रमुख एवं प्रसिद्ध श्री बाबा भैरब नाथ मंदिर। 7th दिसंबर 2020 को सारी दिल्ली भैरव जयंती माना रही है।

भारत के चार धाम
भारत के चार धाम

आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा परिभाषित चार वैष्णव तीर्थ हैं। बद्रीनाथ धाम, रामेश्वरम धाम, जगन्नाथ धाम, द्वारका धाम...

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर
सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

श्री राम स्तुति: श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन

श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं। नव कंज लोचन कंज मुख...

भजन: जय राम रमा रमनं समनं।

जय राम राम रमनं समनं। भव ताप भयाकुल पाहि जनम॥ अवधेस सुरेस रमेस बिभो।...

आरती: माँ सरस्वती वंदना

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता, या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।...

संकट मोचन हनुमानाष्टक

बाल समय रवि भक्षी लियो तब।.. लाल देह लाली लसे, अरु धरि लाल लंगूर।...

श्री गंगा चालीसा
श्री गंगा चालीसा

जय जय जननी हराना अघखानी। आनंद करनी गंगा महारानी॥ जय भगीरथी सुरसरि माता।

श्री शिव चालीसा
श्री शिव चालीसा

जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान॥

श्री राम चालीसा
श्री राम चालीसा

श्री रघुबीर भक्त हितकारी । सुनि लीजै प्रभु अरज हमारी ॥ निशि दिन ध्यान धरै जो कोई । ता सम भक्त और नहिं होई ॥

सच्चे गुरु के बिना बंधन नहीं छूटता।

एक पंडित रोज रानी के पास कथा करता था। कथा के अंत में सबको कहता कि राम कहे तो बंधन टूटे। तभी पिंजरे में बंद तोता बोलता, यूं मत कहो रे पंडित झूठे।

प्रेरक कहानी: बिना श्रद्धा और विश्वास के, गंगा स्नान!

इसी दृष्टांत के अनुसार जो लोग बिना श्रद्धा और विश्वास के केवल दंभ के लिए गंगा स्नान करते हैं उन्हें वास्तविक फल नहीं मिलता परंतु इसका यह मतलब नहीं कि गंगा स्नान व्यर्थ जाता है।

श्रमरहित पराश्रित जीवन विकास के द्वार बंद करता है!

महर्षि वेदव्यास ने एक कीड़े को तेजी से भागते हुए देखा। उन्होंने उससे पूछा: हे क्षुद्र जंतु, तुम इतनी तेजी से कहाँ जा रहे हो?

Authentic way to donate/contribute for Ram Mandir Ayodhya

In Ayodhya after Bhoomi Pujan of Shri Ram Janmbhoomi by Hon'ble Prime Minister, the work for construction of a Bhavya and Divya Shri Ram Mandir has finally commenced. Now Bhakts can contribute wholeheartedly to the cause.

महा शिवरात्रि विशेष 2021

11 मार्च 2021 को संपूर्ण भारत मे महा शिवरात्रि का उत्सव बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाएगा। महा शिवरात्रि क्यों, कब, कहाँ और कैसे? | आरती: | चालीसा | मंत्र |नामावली | कथा | मंदिर | भजन

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2021

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | 9 January 2021 Sunday सफला एकादशी व्रत कथा - Saphala Ekadasi Vrat Katha

Importance of Sawan Somvar Vrat and its benefits?

Monday is considered special in the month of Sawan. The day of Monday is dedicated to Bhagwan Shiv, so the importance of Monday in the month of Sawan increases considerably.

तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि
तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि

...जब मिश्रण हल्का गरम हो तभी लड्डू बना लें ठंडा होने पर लड्डू नहीं बन पाएँगे | Makar Sankranti Sweets

खोया-तिल के लड्डू बनाने की विधि
खोया-तिल के लड्डू बनाने की विधि

...तिल से चिट-चिट की आवाज आना बंद होज़ाये तो समझिए सारे तिल भुन गये हैं।

पारंपरिक मोदक बनाने की विधि!
पारंपरिक मोदक बनाने की विधि!

इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान भोग लगाने में किया जाता है, आइए जानते हैं पारंपरिक तरीके से मोदक बनाने की सरल विधि...

🔝